Sale!

Jindgi ak Party he

ऐसी सोच अमित की है। क्षेत्रा के सौंदर्य से आकर्षित एवं प्रेम में पड़े मानव को गोली खानी पड़ी। रोज़ के डॉक्टर पिता ने उसे मेडिकल की पढ़ाई के लिए क्वींसलैंड यूनिवर्सिटी, आॅस्ट्रेलिया भेजा। किन्तु रोज़ इस हादसे को भुला नहीं पाई। जै़कब का साहचर्य रोज़ को आगे बढ़ने में सहायक बना। रोज़ के मन में उठा कि सपने को चुनूँ या आशिक को। क्यों वह पढ़ाई करने के बाद भारत लौट आई? पढ़िये ”जिंदगी एक पार्टी है

145

SKU: 9789355450210 Category:

ऐसी सोच अमित की है। क्षेत्रा के सौंदर्य से आकर्षित एवं प्रेम में पड़े मानव को गोली खानी पड़ी। रोज़ के डॉक्टर पिता ने उसे मेडिकल की पढ़ाई के लिए क्वींसलैंड यूनिवर्सिटी, आॅस्ट्रेलिया भेजा। किन्तु रोज़ इस हादसे को भुला नहीं पाई। जै़कब का साहचर्य रोज़ को आगे बढ़ने में सहायक बना। रोज़ के मन में उठा कि सपने को चुनूँ या आशिक को। क्यों वह पढ़ाई करने के बाद भारत लौट आई? पढ़िये ”जिंदगी एक पार्टी है