giddh media
giddh media
Back Cover
Look Inside
Sale!

Giddh – Media ka black chapter

ये एक ऐसे नौजवान की कहानी है, जिसकी असीमित महत्वाकांक्षा, उसे एक दिन विनाश की राह पर खड़ा कर देती है। छोटे से शहर और साधारण परिवार का ये नौजवान बेरोजगारी से जूझते हुए पत्रकारिता को पेशा बनाता है और मीडिया की ताकत का बेजा इस्तेमाल कर सत्ता को नियंत्रित करने का वो खेल खेलता है, जिसकी आंच एक दिन उसका सब कुछ जला कर राख कर देती है। इस नौजवान की कहानी में मीडिया का वो काला चेहरा है, जिसमें दलाली है, सेक्स है और भरपूर साजिश है। इसने लिखा है मीडिया का ब्लैक चैप्टर।

299 199

Ends in
Saving 33% Value 299 You Save 100
SKU: 9789390445547 Categories: , Tag:

एक शख्स के अक्स में शामिल उन तमाम धुरंधरों को समर्पित, जिन्होंने मीडिया को गंदा धंधा बना दिया।

Dedicated to all those involved in the image of a man who turned the media into a dirty business.

ये एक ऐसे नौजवान की कहानी है, जिसकी असीमित महत्वाकांक्षा, उसे एक दिन विनाश की राह पर खड़ा कर देती है। छोटे से शहर और साधारण परिवार का ये नौजवान बेरोजगारी से जूझते हुए पत्रकारिता को पेशा बनाता है और मीडिया की ताकत का बेजा इस्तेमाल कर सत्ता को नियंत्रित करने का वो खेल खेलता है, जिसकी आंच एक दिन उसका सब कुछ जला कर राख कर देती है। इस नौजवान की कहानी में मीडिया का वो काला चेहरा है, जिसमें दलाली है, सेक्स है और भरपूर साजिश है। इसने लिखा है मीडिया का ब्लैक चैप्टर।

This is the story of a young man whose unlimited ambition sets him on the path of destruction one day. This young man from a small town and an ordinary family makes journalism a profession battling unemployment and using the power of media to play the game of controlling power, whose heat one day burns everything to ashes. In this young man’s story, there is that black face of the media, which has brokerage, sex and a lot of conspiracy. It has written the black chapter of the media.

Weight 0.230 kg
Dimensions 23 × 15 × 2 cm
Author

Dr. Braj Mohan

Publisher

Namya Press

Series

Paperback

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Giddh – Media ka black chapter”

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Editorial Review

एक शख्स के अक्स में शामिल उन तमाम धुरंधरों को समर्पित, जिन्होंने मीडिया को गंदा धंधा बना दिया।

ये एक ऐसे नौजवान की कहानी है, जिसकी असीमित महत्वाकांक्षा, उसे एक दिन विनाश की राह पर खड़ा कर देती है। छोटे से शहर और साधारण परिवार का ये नौजवान बेरोजगारी से जूझते हुए पत्रकारिता को पेशा बनाता है और मीडिया की ताकत का बेजा इस्तेमाल कर सत्ता को नियंत्रित करने का वो खेल खेलता है, जिसकी आंच एक दिन उसका सब कुछ जला कर राख कर देती है। इस नौजवान की कहानी में मीडिया का वो काला चेहरा है, जिसमें दलाली है, सेक्स है और भरपूर साजिश है। इसने लिखा है मीडिया का ब्लैक चैप्टर।