Biography

Author Picture

DR.ASHOK JAINER

डॉ. अशोक जैनर:एम.बी.बी.एस, एम.डी, एम.आर.सी, डिप्लोमा (Evidence based health care, Oxford university)।इस समय इंग्लैंड के एन.एच.एस में कंसलटेंट और कॉलेजट्यूटर हैं। किंगजॉर्जमेडिकलकॉलेज (अब विश्वविद्यालय), लखनऊ से एम.बी.बी.एस करने के बाद कुछ समय तक दिल्ली के डॉ. राम मनोहरलोहिया अस्पताल में काम किया। करीब 25 वर्षों से इंग्लैंड के कोवेंट्री शहर अस्पताल में वरिष्ठ चिकित्सक।
डॉ.जैनर ने कोरोना शुरू होने के तुरंत बाद फरवरी-मार्च 2020 में भारत, ब्रिटेन और दुनिया के अन्य देशों के क़रीब सौ डॉक्टरों को ऑन लाइन मंच पर संगठित किया।उन्होंने कोरोना का गहराई से अध्ययन किया और इस नतीजे पर पहुंचे कि इस बीमारी में स्टेरॉइड जीवन रक्षक
इलाज होगा। बड़ी संख्या में डॉक्टरों को सही इलाज करने के लिए प्रशिक्षित भी किया।
कोरोना पर दुनियाभर में चल रहे शोधों पर पैनी नज़र और अपने साथ
जुड़ेडॉक्टरों के ज़रिए अनेक डॉक्टरों को ये समझने में मदद की
किकोरोना के 80 प्रतिशत रोगी बिना लक्षण वाले यानी एसिमटोमेटिक होते हैं।

कोरोना में मौत वायरस के कारण नहीं, बल्कि इम्यून सिस्टम के
अतिसक्रिय हो जाने के कारण होती है, जिसे साइटोकिन स्टॉर्म कहते हैं। इस बात को
डॉक्टरों और आम लोगों को समझने में मदद की। इम्यून सिस्टम की अतिसक्रियता या साइटोकिन स्टॉर्म को रोकने के लिए बहुत पुरानी दवा स्टेरॉइड को
किससमय और किस डोज़ में दें, ताकिरोगीकीजानबच
सके, इसे भी समझने में मदद की।
डॉ. जैनर एम.जे ट्रस्ट नाम से एक स्वयंसेवी संस्था
चलाते हैं। इस संस्था ने कोरोना के अनेक रोगियों की मदद की।