Biography

Author Picture

B. K. Shrivastava

डॉ. बी.के. श्रीवास्तव, का जन्म 2 मई 1968 को हुआ था। उनकी इतिहास विषय पर 45 पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। विभिन्न शोध पत्रिकाओं एवं संपादित पुस्तकों में उनके 105 से अधिक शोध आलेख प्रकाशित हो चुके हैं। 100 से अधिक राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय शोध संगोष्ठियों एवं सम्मेलनों में उन्होंने अपने शोध पत्र प्रस्तुत किये हैं। संस्कृतिपरक मूल्य संस्थापना शिविर के अलावा चार राष्ट्रीय शोध संगोष्ठियों एवं दो अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलनों का सफलतापूर्वक आयोजन किया है। भारत की विभिन्न शोध पत्रिकाओं में वे संपादक, सह संपादक, सदस्य सम्पादक मंडल एवं सदस्य सलाहकार मण्डल के रूप में सेवायें दे रहे हैं। पांच से अधिक राष्ट्रीय शोध संगोष्ठियों में कीनोट स्पीकर रहे हैं। वर्तमान में मध्यप्रदेष इतिहास परिषद के अध्यक्ष हैं, इसके अलावा भी राष्ट्रीय स्तर की विभिन्न अकादमिक संस्थाओं में वे अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, कोषाध्यक्ष एवं आजीवन सदस्य के रूप में जुड़े हुये हैं। 10 शोध छात्र उनके मार्गदर्शन में पीएच.डी. उपाधि प्राप्त कर चुके हैं एवं 7 शोध छात्र शोधरत हैं। इतिहास को आम जनता तक पहुँचाने के प्रयासस्वरूप उनके सहयोग एवं मार्गदर्शन में ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर आधारित दो लोकप्रिय नाटकों का मंचन हो चुका है। अपनी विशिष्ट शोध दृष्टि के लिये भी उन्हें सम्मानित किया गया है।हाल ही में उन्हें दीवान प्रतिपाल सिंह बुन्देला स्मृति सम्मान 2020 से भी सम्मानित किया गया है। वर्तमान में वह डॉ. हरीसिंह गौर केन्द्रीय विश्वविद्यालय, सागर के इतिहास विभाग में प्रोफेसर एवं अध्यक्ष के रूप में अपनी सेवाएँ दे रहे हैं।