Sale!

Sarkar Babu

यह उपन्यास बिहार तथा झारखंड के संथाल परगना की सामाजिक-राजनैतिक व्यवस्था को उजागर करने वाले उन पत्रकारों के जीवन और कर्तव्यों पर आधारित है जिन्होंने अपने कर्मों से बड़े-बड़े लोगों को यह सोचने पर मजबूर किया कि दरअसल छोटे शहरों और कस्बों में काम करने वाले पत्रकार ही असली पत्रकार होते हैं जो पत्रकारिता की चमक -दमक से दूर जंगलों, पहाड़ों और नदियों को पार कर जनता के लिए सही खबरें लाते हैं। फिर भी उन्हें कभी भी वह सम्मान नहीं मिलता जिनके वे हकदार होते हैं। सरल भाषा में लिखी गयी यह किताब सत्य घटनाओं पर आधारित है।

290

SKU: 9789391010690 Category:
यह उपन्यास बिहार तथा झारखंड के संथाल परगना की सामाजिक-राजनैतिक व्यवस्था को उजागर करने वाले उन पत्रकारों के जीवन और कर्तव्यों पर आधारित है जिन्होंने अपने कर्मों से बड़े-बड़े लोगों को यह सोचने पर मजबूर किया कि दरअसल छोटे शहरों और कस्बों में काम करने वाले पत्रकार ही असली पत्रकार होते हैं जो पत्रकारिता की चमक -दमक से दूर जंगलों, पहाड़ों और नदियों को पार कर जनता के लिए सही खबरें लाते हैं। फिर भी उन्हें कभी भी वह सम्मान नहीं मिलता जिनके वे हकदार होते हैं। सरल भाषा में लिखी गयी यह किताब सत्य घटनाओं पर आधारित है।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Sarkar Babu”

Your email address will not be published. Required fields are marked *