Biography

Author Picture

नमिता संजीव

बेहिसाब,, ख्वाहिशों ,उलझनों का
नाम हैजिंदगी
अपनी हसराते कुचल
तुझसे वफा की हमने
नमिता संजीव भाव और शब्द संसार में अपना दखल रखती हैं। आपने अंग्रेजी साहित्य और इतिहास में स्नातकोत्तर की उपाधि लेने के पश्चात ,टेक्सटाइल डिग्री और M.E.D kiya शिक्षा को अपना कर्म क्षेत्रबनाया। वर्तमान
में ये सेकंडरी स्कूल की प्रिंसिपल डाईरेक्टर के पद पर कार्यरत है और आधुनिक शिक्षा को बढ़ावा दे रही हैं। यह एक जागरूक लेखिका है और हिंदी, अंग्रेजी साहित्य मेंसमसामयिक विषयों पर लेख भी लिखती है। इनकी कविता का संग्रह""कोपल एहसास"प्रस्तुत है।